आवाज़-ए-हिन्द

मेरे हिम्मत को सराहो मेरे हमराह चलो, मैंने एक दीप जलाया है हवाओं के खिलाफ.

29 Posts

410 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 5019 postid : 126

यही संदेश हमारा

Posted On: 2 Jan, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

INDIA

मिटे अंधियारा हो उजियारा,
यही संदेश हमारा।
सत्य अहिंसा की मिसाल बने,
यह भारत देश हमारा ।

ले सबक गीता और कुरान से,
जिये दुनिया में स्वाभिमान से,
कहे विजय विश्व तिरंगा प्यारा,
यह भारत देश हमारा ।

अधर्म का नाश हो धर्म से,
मानव का विकास हो कर्म से,
मिटे नफरत बने जग प्यारा,
यही संदेश हमारा ।

मुक्ति मिले वेदना से,
तृप्ति मिले संवेदना से,
हिन्दु,मुस्लिम,सिख,इसाई सबका नारा,
यह भारत देश हमारा ।

जनतन्त्र चले जनता से,
भ्रष्टतन्त्र मिटे दृढता से,
मिटे तानाशाह हो गणतंत्र हमारा,
यही संदेश हमारा ।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

32 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

abodhbaalak के द्वारा
January 4, 2012

जनाब अब्दुल रशीद भाई बड़ा खूबसूरत अंदाज़, बड़े खूबसूरत शेर, बड़ी खूबसूरत आरज़ू. ऐसे ही लिखते रहें वैसे इस बार मेरी पोस्ट से आप नदारद हैं. :( http://abodhbaalak.jagranjunction.com/

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    प्रिय अबोध नव वर्ष की हार्दिक सुभकामना आपका शिकायत जायज है लेकिन कुछ बजह से ज्यादा वक्त ब्लॉग के लिए नहीं निकाल पा रहा हूँ वैसे भी मेरा लेख जागरण jaunction को पसंद नहीं आता

nishamittal के द्वारा
January 4, 2012

सुन्दर सन्देश केसाथ सुन्दर रचना राशिद जी.

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    आदरणीय निशा जी नमस्कार शुक्रिया

Alka Gupta के द्वारा
January 3, 2012

राशिद जी , बहुत अच्छा सन्देश देती श्रेष्ठ रचना ! नव वर्ष की हार्दिक मंगलकामनाएं !

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    अलका जी आपने तो अपनी प्रतिक्रिया से अदना का मान बढ़ा दिया नव वर्ष की हार्दिक बधाई

shashibhushan1959 के द्वारा
January 3, 2012

आदरणीय रशीद भाई, सादर ! “तिमिर छटेगा नव-विकास का सूरज नया खिलेगा, कलियाँ मुस्कायेंगी हर घर में उजियारा होगा, हिन्दू-मुस्लिम-सिक्ख-इसाई एक गगन के तारे, ख़ुशी देखकर मृत्यु लोक की, इन्द्रलोक भी हारे !!!”" . मिटे नफरत बने जग प्यारा, यही संदेश हमारा ।”"”" . नए वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं !

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    शशि जी आपकी प्रतिक्रिया हमारे लिए प्रेणा देती है कुछ अच्छ लिखने की धन्यवाद

RaJ के द्वारा
January 3, 2012

rashid जी आपने मेरे नवीन ब्लॉग अगर aaj सोयेंगे – कल अपने बच्चों को मिस्र देंगे पर आकर जो मेरा उत्साह बढाया उसके लिए दिल से शुक्रिया और आपकी उपरोक्त प्रस्तुति पर आपको मुबारक बाद

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    शुक्रिया प्रतिक्रिया के लिए

roshni के द्वारा
January 3, 2012

रशीद जी नववर्ष का सुंदर सन्देश देती रचना बहुत अच्छी … आपको भी नववर्ष की बधाई

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    आपको भी नए साल की हार्दिक बधाई शुक्रिया प्रतिक्रिया के लिए

mparveen के द्वारा
January 3, 2012

हिन्दु,मुस्लिम,सिख,इसाई सबका नारा, यह भारत देश हमारा । जनतन्त्र चले जनता से, भ्रष्टतन्त्र मिटे दृढता से, मिटे तानाशाह हो गणतंत्र हमारा, यही संदेश हमारा । अब्दुल जी इतने अछे सन्देश के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद … आपको भी नव वर्ष की मंगल कामना..

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    आपका ब्लॉग पर स्वागत है प्रतिक्रिया के लिए बहुत बहुत शुक्रिया

dineshaastik के द्वारा
January 3, 2012

कौमी एकता का संदेश देने वाली एवं देशभक्ति की भावना से ओत-पोत रचना को सलाम। आपका संदेश जन-जन तक पहुचे मेरी दुआ है, नये वर्ष की  हार्दिक शुभकामनायें के साथ………

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    प्रतिक्रिया के लिए शुक्रगुजार है हम

JAMALUDDIN ANSARI के द्वारा
January 3, 2012

अस्सलाम वलैकुम रशीद भी , पुरे परिवार सहित आपको नए साल का मुबारकबाद . आपका प्रयास काबिले तारीफ है, ऐसे ही लगे रहे खुदा आपकी नेक तमन्नाओं को पूरा करे . आमीन

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    वालेकुम अस्सलाम बहुत शुक्रिया हौंसला बढाने के लिए

Santosh Kumar के द्वारा
January 2, 2012

प्रिय मित्र,.सादर नमस्कार आपके विचारों को नमन ,.अभिव्यक्ति को अभिनन्दन ,…और क्या लिखूं ?…. हम सबकी कामनाये पूरी हों ,..यही प्रार्थना है ,..कोटि कोटि आभार

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    मित्र संतोष आपकी प्रतिक्रिया हमारे लिए और अच्छा लिखने के लिए प्रोत्साहित करता है

akraktale के द्वारा
January 2, 2012

रशीद जी नमस्कार, सबको एकता में पिरोने का सन्देश देती सुन्दर देश प्रेम की रचना. बधाई.

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    प्रतिक्रिया के लिए शुक्रगुजार है

allrounder के द्वारा
January 2, 2012

नमस्कार रशीद जी, कविता के माध्यम से अच्छा सन्देश देने और नव वर्ष की आपको हार्दिक शुभकामनायें !

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    शुक्रिया आपका प्रोत्साहन के लिए

jlsingh के द्वारा
January 2, 2012

हिन्दु,मुस्लिम,सिख,इसाई सबका नारा, यह भारत देश हमारा । जनतन्त्र चले जनता से, भ्रष्टतन्त्र मिटे दृढता से, मिटे तानाशाह हो गणतंत्र हमारा, यही संदेश हमारा । रशीद भाई, आदाब! यहीसन्देश जन जन में पहुंचे और हम सब एक जुट होकर लोकतंत्र की रक्षा करें! बहुत ही सुन्दर सन्देश आपने दिया है बधाई!

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    शुक्रिया जवाहर जी

rahulpriyadarshi के द्वारा
January 2, 2012

नव वर्ष आपके लिए सपरिवार मंगलमय हो. आपकी इस सोच को सलाम,हम हाथ मिलाकर साथ चलें तो मंजिल जरुर मिलेगी.

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    राहुल जी जरूर मै तो साथ चलने को तैयार हूँ नव वर्ष की हार्दिक बधाई आपको और आपके पूरे परिवार को

January 2, 2012

रशीद भाई नमसकर …बहुत खूब मित्रा। मज़ा आ गया….नववर्ष पर देश प्रेम से भरा गीत पढ़कर …………………..”मुक्ति मिले वेदना से, तृप्ति मिले संवेदना से,” आपको नव वर्ष मंगलमय हो !!

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    शुक्रिया सर आपको यह रचना पसंद आई

minujha के द्वारा
January 2, 2012

राशिद भाई बहुत ही सुंदर संदेश नए साल की मुबारकबाद कुबूल करें

    Abdul Rashid के द्वारा
    January 4, 2012

    आपको भी नए साल की मुबारकबाद


topic of the week



latest from jagran